मुरौल प्रखंड को पुर्णतः टिकायुक्त बनाने के लिए 6 जुलाई का है लक्ष्य, डीएम ने की बैठक

वन वीक मुरौल कंप्लीट उक्त स्लोगन को मूर्त रूप देने के मद्देनजर जिलाधिकारी की अध्यक्षता में आज जिला प्रशासन के वरीय पदाधिकारी गण एवं स्वास्थ्य विभाग के पदाधिकारियों की प्रखंड कार्यालय मुरौल में एक महत्वपूर्ण बैठक आहूत की गई। बैठक में स्थानीय पदाधिकारियों एवं माननीय जनप्रतिनिधि के साथ आईसीडीएस, जीविका ,डब्ल्यूएचओ, आगा खान ग्राम समर्थन कार्यक्रम(भारत), केयर और यूनिसेफ के प्रतिनिधियों ने भी अपनी उपस्थिति सुनिश्चित की।

मुरौल प्रखंड में 100% कोविड टीकाकरण का आच्छादन के लक्ष्य को पाने की दिशा में जिलाधिकारी की अध्यक्षता में अभियान मुरौल की अंतिम रूपरेखा तैयार करने के साथ ठोस रणनीति भी बनाई गई ताकि 6 जुलाई तक मुरौल प्रखंड में कोविड-19 टीकाकरण का 100% आच्छादन हो सके।

उक्त बैठक में जिलाधिकारी ने उपस्थित पदाधिकारियों,माननीय जनप्रतिनिधियों , कर्मियों और विभिन्न संस्थाओं के प्रतिनिधियों को संबोधित करते हुए कहा कि कोविड-19 टीकाकरण की जिला स्तरीय समन्वय समिति में लिए गए निर्णय के आलोक में यह बैठक आहूत की गई है। उन्होंने कहा कि *वन वीक मुरौल कंप्लीट स्लोगन को मूर्त रूप देने की दिशा में बेहतर समन्वय/ताल-मेल के साथ अपने कर्तव्यों का निर्वहन करें। समर्पण के साथ कार्य करते हुए उक्त संकल्प को पाना कतई नामुमकिन नहीं है। उन्होंने कहा कि बनाए गए माइक्रो प्लान के अनुसार वार्ड वाइज बेहतर समन्वय के साथ लोगों को मोबिलाइज करें। सघन प्रचार- प्रसार कर टीका के प्रति लोगों को प्रोत्साहित करें। उन्होंने कहा कि उक्त लक्ष्य को प्राप्त करने हेतु पर्याप्त संसाधन की उपलब्धता सुनिश्चित की गई है। प्रत्येक पंचायत पर एक नोडल पदाधिकारी होंगे।साथ ही इस लक्ष्य की प्राप्ति में स्थानीय जनप्रतिनिधियों का सहयोग और समर्पण भी अपेक्षित है। कहा कि सेविका /सहायिका आशा कार्यकर्ता, जीविका दीदियों के द्वारा डोर टू डोर मोबिलाइजेशन करावे।उन्होंने यह उम्मीद भी की कि केयर, डब्ल्यूएचओ, यूनिसेफ ,आगा खान ग्राम समर्थन के अधिकारियों एवं कर्मियों के द्वारा टीकाकरण में जो समर्पण दिखाया गया है वह *अभियान मुरौल में भी दिखेगा।

बैठक में स्वास्थ्य विभाग द्वारा जानकारी दी गई कि मुरौल में टीकाकरण का कार्य संतोषजनक है।उक्त लक्ष्य को प्राप्त करने की दिशा में कुल 36 टीमें लगाई गई हैं।मुरौल प्रखंड में 18 प्लस का कुल लक्ष्य 44672 के विरुद्ध 9972 व्यक्तियों को टीकाकरण से आच्छादित किया गया है। शेष 34700 का टीकाकरण किया जाना है। वही 44 वर्ष से ऊपर के व्यक्तियों के लिए टीकाकरण का लक्ष्य 24213 के विरुद्ध 10053 की उपलब्धि है जबकि 14160 का टीकाकरण किया जाना शेष है। इस तरह कुल 36 टीमों के द्वारा 6 दिनों में कूल 48860 टीकाकरण का लक्ष्य है।

बैठक में उप विकास आयुक्त डॉ सुनील कुमार झा, सिविल सर्जन मुजफ्फरपुर डॉक्टर एस के चौधरी ,एसीएमओ मुजफ्फरपुर ,सहायक समाहर्ता श्रेष्ठ अनुपम, अपर समाहर्ता आपदा डॉ अजय कुमार, जिला जनसंपर्क पदाधिकारी कमल सिंह, डीपीओ आईसीडीएस ललिता कुमारी ,डीपीएम जीविका अनीशा, जिला कल्याण पदाधिकारी ,जिला शिक्षा पदाधिकारी के साथ केयर के जिला प्रतिनिधि सौरभ तिवारी, डब्ल्यूएचओ के डॉक्टर आनंद, यूनिसेफ के जिला प्रतिनिधि चंद्र भूषण कुमार और आगा खान ग्राम संगठन के जिला प्रतिनिधि जय प्रकाश सिंह उपस्थित थे।

(2) कोविड-19 टीकाकरण को लेकर सघन जागरूकता अभियान के मद्देनजर 09 प्रचार वाहनों को जिलाधिकारी ने आज प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र मुरौल के परिसर से हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। उक्त सभी वाहन आगा खान ग्राम संगठन (भारत )के द्वारा उपलब्ध कराए गए हैं, जिसके माध्यम से मुरौल के सभी पंचायतों,वार्ड, गांव और टोलों में सघन जागरूकता अभियान चलाया जाएगा। इस अवसर पर जिलाधिकारी ने कहा कि मुरौल प्रखंड के साथ अन्य प्रखंडों में भी लगातार कोविड-19 टीकाकरण के प्रति लोगों को जागरूक करने के उद्देश्य से प्रचार- प्रसार किया जा रहा है। कहा कि कोविड -19 महामारी पर नियंत्रण में सरकार के विभिन्न विभागों के अलावे सामाजिक संस्थाएं और संगठनों की महत्वपूर्ण भूमिका है । उन्होंने कहा कोविड-19 टीका हम सभी के लिए सुरक्षा कवच है। इसलिए प्रत्येक व्यक्ति का टीकाकरण हो यह हमारा उद्देश्य है। मौके पर उप विकास आयुक्त, सिविल सर्जन, सहायक समाहर्ता के साथ अन्य वरीय पदाधिकारी एवं प्रखंड स्तरीय पदाधिकारी तथा जनप्रतिनिधि उपस्थित थे।

(3)जिलाधिकारी द्वारा प्रखंड सभाकक्ष में स्थानीय जनप्रतिनिधियों के साथ भी बैठक की गई। बैठक में टीका करण में माननीय जनप्रतिनिधियों से सहयोग की अपेक्षा जिलाधिकारी के द्वारा की गई। जनप्रतिनिधियों ने एक स्वर में अभियान मुरौल की सफलता को लेकर सहयोग करने का वादा किया।

बैठक में इसके अतिरिक्त स्थानीय समस्याओं से भी जिलाधिकारी को रूबरू कराया गया।उक्त समस्याओं के निष्पादन की दिशा में जिलाधिकारी द्वारा वरीय पदाधिकारियों को आवश्यक निर्देश भी दिए गए।

(4) इसके साथ जिलाधिकारी द्वारा प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में निर्मित 10 बेड का पेडियाट्रिक वार्ड का निरीक्षण भी किया गया। उक्त वार्ड में सभी बेडो के साथ ऑक्सीजन कंसंट्रेटर की व्यवस्था की गई है।
निरीक्षण के उपरांत जिलाधिकारी द्वारा प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र के चिकित्सकों, पारा मेडिकल स्टाफ, आशा एएनएम के साथ एक महत्वपूर्ण बैठक की गई। बैठक में जिलाधिकारी ने कोविड-19 महामारी के विरुद्ध उनके समर्पण की तारीफ की।साथ ही उम्मीद जताई कि आगे आने वाले दिनों में भी उनका सहयोग अपेक्षित होगा।

(5) जिलाधिकारी ने तिरहुत नहर के साथ बूढ़ी गंडक बांध का भी मुआयना किया।तिरहुत नहर पर चल रहे निर्माण कार्य का जायजा लिया और इस संबंध में आवश्यक निर्देश संबंधित अभियंता को जिलाधिकारी द्वारा दिए गए। मौके पर अपर समाहर्ता आपदा डॉ अजय कुमार के साथ अन्य वरीय पदाधिकारी भी उपस्थित थे।




Source link

About vishvjit solanki

Check Also

How to upgrade your Cyberdeck in The Ascent

Like all good Cyberpunk worlds, The Ascent gives players access to a device called a …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

x