sarfaraj

किंग्स इलेवन पंजाब ने मुजफ्फरपुर के सरफराज अशरफ को ट्रायल के लिए बुलाया

भारत सरकार का प्रतिष्ठित राष्ट्रीय खाद्य तकनीक उद्यमिता एवं प्रबंधन संस्थान बिहार में मुजफ्फरपुर से पटना के बीच स्थापित होगा। केंद्रीय खाद्य प्रसंस्करण मंत्रालय के तहत संचालित यह डीम्ड यूनिवर्सिटी है। भारत सरकार के आग्रह पर बिहार सरकार ने मुजफ्फरपुर से पटना के बीच इसके लिए 100 एकड़ के भूखंड की तलाश शुरू कर दी है। 2022 में इसकी शुरुआत की उम्मीद जताई जा रही है। राष्ट्रीय खाद्य तकनीक उद्यमिता एवं प्रबंधन संस्थान की स्थापना के लिए केंद्रीय खाद्य प्रसंस्करण मंत्री पशुपति कुमार पारस और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के बीच कई दौर की बातचीत हो चुकी है। बिहार का प्रस्तावित राष्ट्रीय खाद्य तकनीक उद्यमिता एवं प्रबंधन संस्थान (निफटेम) देश में तीसरा होगा। इससे पहले केवल दो संस्थान हरियाणा के सोनीपत और तमिलनाडु के तंजावुर में हैं। पहली बार पूर्वी भारत में इस तरह के संस्थान की रूपरेखा तैयार की गई है। इससे बिहार, झारखंड, पश्चिम बंगाल और ओड़िशा के निवासियों को काफी फायदा होगा। आगामी तीन जनवरी को केंद्रीय खाद्य प्रसंस्करण मंत्रालय के क्षेत्रीय कार्यालय के उद्घाटन के मौके पर विश्वविद्यालय की स्थापना के लिए भी कैंप कार्यालय शुरू करने की घोषणा की जा सकती है।

bombay-gym

टेक्नोक्रेट से लेकर उद्यमी तक होंगे तैयार

राष्ट्रीय खाद्य तकनीक उद्यमिता एवं प्रबंधन संस्थान (निफटेम) में टेक्नोक्रेट से लेकर उद्यमी तक तैयार करने के पाठ्यक्रम संचालित किए जाएंगे। यहां खाद्य प्रसंस्करण तकनीक में बीटेक, एमटेक, एमबीए और पीएचडी की पढ़ाई होगी। उद्ममिता और तकनीक के क्षेत्र में करियर बनाने वाले युवाओं को काफी मदद मिलेगी।

umanag-utsav-banquet-hall-in-muzaffarpur-bihar

नए-नए खाद्य उत्पादों पर होगा शोध

प्रस्तावित संस्थान में नए-नए खाद्य उत्पादों को विकसित करने पर शोध होगा। इसके अलावा यहां खाद्य प्रसंस्करण के लिए उन्नत तकनीक का भी विकास किया जाएगा। जिससे कम लागत में कृषि और वानस्पतिक उत्पादों को गुणवत्तापूर्ण भोजन में बदला जा सकेगा।

clat

मखाना, लीची, केला, सिंघारा की नई संभावना जगेगी

मखाना, लीची, केला और सिंघारा जैसे बिहार की खास पहचान वाले प्राकृतिक उत्पादों से नए-नए भोज्य पदार्थ विकसित कर उन्हें अर्थव्यवस्था के नए चक्र के रूप में विकसित करने पर काफी कम काम हुआ है। नया संस्थान इस कमी को पूरा करेगा। इससे बिहार के फसलों, फलों और वनस्पतियों पर आधारित नए उत्पादों के विकास की संभावना जगेगी। वैश्विक गुणवत्ता मानकों के आधार पर इन्हें तैयार करने से अंतरराष्ट्रीय बाजार में मांग बढ़ेगी।

WhatsApp Image 2021 12 30 at 6.14.52 PM

जुलाई में संसद से पास

राष्ट्रीय खाद्य तकनीक उद्यमिता एवं प्रबंधन संस्थान (निफटेम) विधेयक जुलाई में संसद सत्र के दौरान पारित हो चुका है। इस विधेयक के जरिए बिहार और असम में निफटेम की स्थापना को हरी झंडी दी गई। अब इसे जमीन पर उतारने की प्रक्रिया शुरू की गई है। इसके बजट आवंटन के लिए प्रस्ताव तैयार कर लिया गया है।

Source : Hindustan

png 20211230 113422 0000

9. gtse muzffarpur now advertising 1

f2


Source link

About PARTH SHAH

Check Also

saraswati maa

सरस्वती पूजा के उत्साह पर पड़ी कोरोना पाबंदियों की मार

भारतीय रेलवे के मालदा टाउन मंडल में रतनपुर और जमालपुर स्टेशन के बीच नॉन-इंटरलॉकिंग का …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

x